Customer Review

9 September 2019
इस किताब में जवाहरलाल नेहरू द्वारा इंदिरा गांधी को लिखे पत्र हैं जिनका अनुवाद प्रेम चंद ने किया है। पत्रों में नेहरू 10 साल की इंदिरा को बताते हैं कि पृथ्वी कब और कैसे बनी, इंसान और पशुओं का जीवन कैसे शुरू हुआ। दुनिया भर में सभ्यताएं और समाज कैसे अस्तित्व में आए।

जाती तौर पे ये किताब मुझे बहुत पसंद आई है। ऐसा लगता है कि इसे बहुत पहले पढ़ लेना चाहिए था। हमें स्कूल की हिस्ट्री की किताबें कितना उबाती थीं, और शायद आज के बच्चों को भी उबाती हों, लेकिन ये किताब इतने सलीके और इतने सरलता से कही गयी है कि ऐसा लगता है कोई उपन्यास हो। बहुत बहुत सुंदर और दिलचस्प किताब है ये। ज़रूर पढ़ें । अच्छा लगेगा।
One person found this helpful
0Comment Report abuse Permalink

Product Details

4.1 out of 5 stars
27 customer ratings