100% PP 100%25%20PP
   225.00
  • M.R.P.:    250.00
  • You Save:    25.00 (10%)
  • Inclusive of all taxes
FREE Delivery on orders over ₹499.00.
Pay on Delivery (Cash/Card) eligible
What is this?
What is Pay on Delivery?
Pay on Delivery (POD) includes Cash on Delivery (COD) as well as Debit card / Credit card / Net banking payments at your doorstep.
Only 1 left in stock.
Sold by Amazing_Buy (4.8 out of 5 | 892 ratings) and Fulfilled by Amazon. Gift-wrap available.
Other Sellers on Amazon
Add to Cart
   225.00
FREE Delivery on orders over    499.00. Details
Sold by: uRead-shop
Add to Cart
   213.00
   70.00 Delivery charge
Sold by: GAURAV BOOKS CENTER
Add to Cart
   205.00
   100.00 Delivery charge
Sold by: Book Crush
List & Earn Rs.250* extra. Available in Bangalore, Mumbai, Chennai, Hyderabad. Sell on Local Finds.
Flip to back Flip to front
Listen Playing... Paused   You're listening to a sample of the Audible audio edition.
Learn more.
See all 2 images

Adbhut Ganitajna : Srinivas Ramanujan (Hindi) Hardcover – Aug 2015

4.6 out of 5 stars 2 customer reviews

See all 4 formats and editions Hide other formats and editions
Price
New from
Hardcover, Aug 2015
   225.00
   205.00
click to open popover

Product description

अद्भुत गणितज्ञ श्रीनिवास रामानुजन के जीवन और कृतित्व दोनों से परिचय प्राप्त करना किसी को भी मानव प्रतिभा की संभावनाओं के संबंध में चमत्कृत करने के लिए पर्याप्त है। गणित के क्षेत्र में विश्व में कदाचित् ही कोई व्यक्ति रामानुजन के नाम से अपरिचित होगा। रामानुजन का गणित का कार्य सरल नहीं माना जाता है। कुछ गणितज्ञ तो उनके सूत्रों को अत्यंत जटिल मानते हैं। वे हिंदी के माध्यम से उन सूत्रों को प्रस्तुत करके अपने आपको एक बड़ी चुनौती में खरा उतरने का दावा नहीं करते हैं। विश्व की विभिन्न भाषाओं में उनके जीवन पर आधारित अनेक पुस्तकें प्रकाशित हैं, किंतु हिंदी-भाषी पाठकों के लिए रोचक शैली में लिखित यह जानकारीपरक पुस्तक रामानुजन के जीवन को तथा उनके विश्व-विख्यात कृतित्व को प्रस्तुत करने की एक कसौटी है। पुस्तक में आरंभ के अध्यायों में रामानुजन के जीवन तथा परिस्थितियों पर प्रकाश डाला गया है तथा भारतीय संस्कृति एवं परंपरा पर उनकी मान्यताओं को स्थान दिया गया है। प्रथम भाग में कहीं-कहीं गणित के कुछ उद्धरण आए हैं, जिनका उल्लेख करना आवश्यक था। बाद के अध्यायों में उनके द्वारा किए गए गणित के कार्य का संक्षिप्त, रोचक व ज्ञानप्रद प्रस्तुतीकरण है। विश्वास है, प्रस्तुत पुस्तक पढ़कर पाठकगण श्रीनिवास रामानुजन के कृतित्व से न केवल परिचित होंगे, बल्कि प्रेरणा भी ग्रहण करेंगे।

Enter your mobile number or email address below and we'll send you a link to download the free Kindle App. Then you can start reading Kindle books on your smartphone, tablet, or computer - no Kindle device required.

  • Apple
  • Android
  • Windows Phone

To get the free app, enter mobile phone number.



Product details

  • Reading level: 18.00+ years
  • Hardcover: 160 pages
  • Publisher: Prabhat Prakashan; 1 edition (1 August 2015)
  • Language: Hindi
  • ISBN-10: 9351864952
  • ISBN-13: 978-9351864950
  • Package Dimensions: 22.2 x 14 x 1.2 cm
  • Average Customer Review: 4.6 out of 5 stars 2 customer reviews
  • Amazon Bestsellers Rank: #2,31,361 in Books (See Top 100 in Books)
  • Would you like to tell us about a lower price?
    If you are a seller for this product, would you like to suggest updates through seller support?



Customer reviews

4.6 out of 5 stars
Share your thoughts with other customers
See all 2 customer reviews

Top customer reviews

25 November 2017
Format: Hardcover|Verified Purchase
review image
1 December 2014
Format: Paperback|Verified Purchase

Where's My Stuff?

Delivery and Returns

Need Help?